Benefits of Castor oil in hindi : अरंडी तेल के फायदे और नुकसान :
Castor oil in hindi : जब मैं छोटा था, किसी भी बीमारी और दादी सिर्फ अरंडी तेल का शिफारिश करती थी. यह एक बहुत महत्वपूर्ण घरेलू औषधि हुआ करता था, अरंडी तेल बहुत पूराने समय से ही एक आयुर्वेदिक औषधि के रूप में इस्तेमाल होता आ रहा है और आज भी इसका उपयोग हो रहा है, बड़ी बड़ी फार्मा कंपनी साबुन, शैम्पू और क्रीम बनाने में कास्टर आयल का उपयोग कर रहे है. अगर आप Castor oil in hindi, इसके फायदे और नुकसान के बारे में जानना चाहते है तो यह आर्टिकल अंत तक पढें.

Table of Contents

Benefits of Castor oil in hindi : अरंडी तेल के फायदे और नुकसान


अरंडी तेल क्या है (what is castor oil in hindi)

:

अरंडी तेल एक वनस्पति तेल (Vegetable oil) है जिसे रिसिनस कम्युनिस (Ricinus communis) नामक पौधे के बीजों को कुचलकर प्राप्त किया जाता है.

यह बिना रंग से लेकर हल्के पीले रंग का होता है, इसका लगभग 90% फैटी एसिड से भरा होता है. सालाना 270,000–360,000 टन अरंडी तेल का निर्माण किया जाता है इस अंदाज से आप जान सकते है कि इसके कितने फायदे होते होंगे.

अरण्डी तेल के अन्य नाम (names of castor oil) :

कास्टर आयल का वैज्ञानिक नाम : रिसिनस कम्युनिस (Ricinus communis) है पर इसे इंडिया में अलग अलग क्षेत्रों में अलग नाम से जाना जाता है जैसे
castor oil in Hindi : रेंड़ी का तेल, अरण्डी तेल, अंडी का तेल
castor oil in Tamil : ஆமணக்கு எண்ணெய் (Āmaṇakku eṇṇey)
castor oil in Telegu : ఆముదము (Āmudamu)
castor oil in Kannada : ಹರಳೆಣ್ಣೆ (Haraḷeṇṇe)
castor oil in Punjabi : ਆਰੰਡੀ ਦਾ ਤੇਲ (Āraḍī dā tēla)
castor oil in Malyalam : കാസ്റ്റർ എണ്ണ (kāsṟṟar eṇṇa)
castor oil in Gujrati : દિવેલ (Divēla)

अरण्डी तेल में मौजूद एसिड और उसकी मात्रा (fatty acids in castor oil in hindi)

अरण्डी तेल 90% फैटी एसिड से भरपूर होता है जिसके कारण इसका उपयोग बहुतायत होता है इसमें सबसे ज्यादा Ricinoleic acid पाया जाता है साथ ही और भी कई तरह के एसिड मिलते है जैसे :

  • रिसिनोलिक एसिड (Ricinoleic acid) : 85–95%
  • ओलिक एसिड : 2–6%
  • लिनोलिक एसिड : 1–5%
  • α-लिनोलिक एसिड : 0.5–1%
  • स्टीयरिक एसिड : 0.5–1%
  • पालमिटीक (Palmitic acid ) : 0.5–1%
  • Dihydroxystearic acid : 0.3–0.5%
  • अन्य : 0.2– 0.5%

    अरंडी तेल के फायदे (benefits of castor oil in hindi) :



    अरंडी तेल के फायदे से आप ज़रूर परिचित होंगे, अगर नही तो यह पोस्ट आपके काम आएगी.

    1. तेल के फायदे त्वचा के लिए
    2. तेल के फायदे बालों के लिए
    3. तेल के फायदे दर्द दूर करने के लिए
    4. तेल के फायदे आंखों के लिए
    5. अरंडी तेल के फायदे स्वास्थ्य के लिए

    तेल के फायदे त्वचा के लिए (castor oil benefits for skin in hindi)


    Benefits of castor oil in hindi

    Castor oil for skin

    अरण्डी तेल त्वचा से संबंधित बहुत सी समस्याएं से लड़ने में मदद करता है अगर आपके चेहरे में कोई भी समस्या हो जैसे डार्क सर्कल, मुहाँसे, झाइयां, झुर्रियां इन सबको दूर करने में काफी मददगार है.

    1. झुर्रियां दूर करता है अरण्डी तेल :

    झुर्रियां बढ़ती उम्र की निशानी है पर आजकल जवानी में ही लोगो के चेहरे पर झुर्रियां बनने लगी है.
    अगर आप अपने चेहरे से झुर्रियां मिटाना चाहते है तो castor oil एक अच्छा विकल्प होगा.
    चेहरे पर कास्टर तेल लगाने से, तेल गहराई से प्रवेश करता है और कोलेजन और इलास्टिन के उत्पादन को उत्तेजित करता है. जिससे त्वचा नर्म और हाइड्रेट रहती है.

    • थोड़ी सी मात्रा में तेल लेकर चेहरे में लगा कर मसाज करें, चेहरे में नमी लाएगी जिससे चेहरा शुष्क नही होगी और झुर्रियां मिट जाएगी.

    (Also read : चेहरे से झुर्रिया हटाने के घरेलू उपाय)

    2. सनबर्न से बचाता है अरंडी तेल (castor oil heals sunburn) :

    चेहरे या हाथ पैर में सनबर्न हो तो भी यह एक असरदार home remedy होगा.

    एक रुई की बॉल लेकर उसे अरंडी तेल में डुबायें और चेहरे पर लगाएं, एक से डेढ़ घंटे तक रहने दे फिर ठंडे पानी से धो ले.
    इससे सूरज की किरणों से जली हुई त्वचा जल्दी हील होगी.

    3. मुहांसों से छुटकारा दिलाता है अरंडी का तेल (castor oil for acne in hindi)

    चेहरे पर मुहाँसे है तो इसका उपयोग उन मुहासों को दूर करने में मदद करती है.
    कस्टोर आयल में रिसिनोलिक एसिड पाया जाता है जो एक बहुत ही अच्छा एसिड है, यह मुहाँसे पैदा करने वाली बक्टेरिया को मारता है जिससे चेहरे से मुहांसे की समस्या दूर हो जाती है.

    रात को सोने से पहले चेहरे को पानी से धो लें ताकि गंदगी साफ हो जाये फिर 1-2 बूंद अरण्डी तेल लेकर चेहरे में मसाज करें और पूरी रात लगाए रखे,
    अगली सुबह पानी से धो ले.

    4. अरंडी तेल के फायदे काले घेरे को मिटाती है (castor oil for face dark circul in hindi) :

    आंखों के नीचे डार्क सर्कल हो या आर्मपिट का कालापन, अरंडी तेल कालेपन को दूर करने में काफी मदद करता है. इसमें मॉइस्चर के गुण होते है साथ ही धूल, मिट्टी और impurities को दूर करता है जिससे कालापन दूर हो जाता है.

    • उंगली में थोड़ी सी मात्रा में castor oil लेकर आंखों के नीचे कालेपन वाले जगह पर मसाज करें,
      2-3 मिनट तक मसाज करें और रातभर के लिए छोड़ दें.
      अगली सुबह साफ पानी से धो लें.

    • परिणाम जल्दी चाहते है तो 1 चम्मच अरंडी तेल में 1 चम्मच दूध मिलाकर 2-3 तक मसाज करें. दूध में लैक्टिक एसिड होता है जो व्हाइट टोन बनाता है, स्कीन कलर गोरा बनाता है.

    (Also read : डार्क सर्कल्स हटाने के उपाय)

    5. अरंडी तेल करे स्ट्रेच मार्क्स को कम (castor oil in pregnancy strach marks in hindi) :

    स्ट्रेच मार्क्स प्रेग्नेंसी के दौरान ही बनता है कारण है स्किन का अधिक लचीलापन हो जाना.

    प्रेग्नेंसी के दौरान अधिक खिंचाव के कारण स्ट्रेच मार्क्स पैदा हो जाता है. 2 महने पहले ही उस जगह पर अरंडी तेल से मालिश किया जाए तो निशान नही बनता.

    अरंडी तेल में फैटी एसिड भरपूर मात्रा में होता है, प्रेग्नेंसी के दौरान उस जगह पर इस तेल से मालिश करने पर निशान नही बनता.

    6. अरंडी में लाभ मॉइस्चराइजर के रूप में (benefits of castor oil in hindi) :

    ठंडी के मौसम में अक्सर त्वचा रूखी हो जाती है क्योंकि उस समय त्वचा से पसीना नही निकलता और तेल ग्रंथी (oil gland) भी तेल release करना कम कर देती है.

    अगर त्वचा में नमी बनाएं रखना चाहते है तो अरण्डी तेल काफी मददगार है. हाथ, पैर और चेहरे को साफ पानी से अच्छी तरह धो कर अरंडी तेल लगायें.

    7. दाद को दूर करने में सफल है कास्टर आयल (castor oil for ringwarm in hindi) :

    दाद भी एक प्रकार का त्वचा रोग है, दाद एक जिद्दी रोग है जो बहुत देर से जाता है और जाने के बाद भी वापस आ जाता है.

    अरण्डी तेल में एक सक्रिय कंपाउंड undecylenic acid होता है जो दाद को दूर करता है.

    • 2 चम्मच अरण्डी तेल में 4 चम्मच नारियल तेल मिलाकर दाद वाले स्थान पर लगाएं.

    तेल के फायदे बालों के लिए (castor oil benefits for hair in hindi)


    अरण्डी तेल के फायदे बालो के लिए

    Castor oil for hair

    जिस तरह अरंडी तेल के फायदे त्वचा के लिए है उसी प्रकार बालो के लिए है, बलों की प्रोब्लेम्स जैसे डेंड्रफ, स्कैल्प.

    अरंडी तेल करे स्कैल्प और डेंड्रफ साफ (castor oil for scalp 1. and dandruff in hindi) :

    कास्टर आयल antifungal और antibacterial गुण से भरपूर होता है जिससे स्कैल्प और डेंड्रफ पैदा करने वाले micro-organism खत्म हो जाते है.

    अगर आपका सिर डैन्ड्रफ या स्कैल्प से संक्रमित है तो अरंडी तेल का इस्तेमाल करें.
    (Also Read : बालों को स्वस्थ रखने और देखभाल के घरेलू नुस्खे)

    बालों की ग्रोथ बढ़ाने करें इसका इस्तेमाल (castor oil for hair 2. growth in hindi) :



    अगर आप बालों के लिए घरेलू उपाय ढूंढ रहे है तो castor oil काम आ सकता है. इस तेल को बालों की वृद्धि, बालों को मुलायम बनाने में किया जाता है.

    इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो बालों को हेल्थी बनाने में मदद करता है. यह तेल follicles के लिए रक्त संचार को बूस्ट करता है जिससे बाल काले, घने, सिल्की और मुलायम होता है साथ ही दो मुहे बाल, और हेयर डैमेज से भी बचाता है.
    (Also Read बालो को स्ट्रेट करने के घरेलू उपाय)

    कैस्टर ऑयल के फायदे रोके बालों को सफेद होने से (castor 3. oil for premature grey hair in hindi) :

    बालों का सफेद होना बुढ़ापे की निशानी है पर आजकल यह समस्या नौजवानों में भी दिखने मिल जाता है अभी के समय मे 15-20 वर्ष के बच्चों में भी यह देखने मिल जाता है.

    अगर आप अपने बालों का रंग नही खोना चाहते या सफेद हो रहे बालों में कंट्रोल करना चाहते है इसका इस्तेमाल करें, यह बालों को सफेद होने से रोकता है, क्षतिग्रस्त बालो की भरपाई करता हैं.
    ( Also Read : Hair fall solution in hindi (झड़ते बाल रोकने के घरेलू उपाय))

    4. दाढ़ी की ग्रोथ बढ़ाने करें इसका इस्तेमाल (castor oil for beard growth in hindi) :

    एक time था जब clean beard ही पुरुषों का style था, लेकिन आज यह पूरी तरह से बदल चुका है आज के युवा clean beard की जहग घने रेशमी बालों वाले beard पसंद करने लग गए है.

    अगर आप दाढ़ी के लिए घरेलू उपाय ढूंढ रहे है तो castor oil काम आ सकता है. इस तेल को दाढ़ी के बालों में वृद्धि लाने और मुलायम बनाने में किया जाता है.

    इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो बियर्ड को हेल्थी बनाने में मदद करता है. यह तेल follicles के लिए रक्त संचार को बूस्ट करता है जिससे दाढ़ी काले, घने, सिल्की और मुलायम होता है.

    तेल के फायदे दर्द दूर करने के लिए (castor oil benefits for pain relief in hindi)


    रेंडी तेल के फायदे

    Castor oil benefits

    1. गठिया रोग के दर्द को कम करने में सहायक (castor oil for arthirits) :

    आमतौर पर गठिया रोग से होने वाले असहनीय दर्द से आराम पाने में इसका उपयोग किया जाता है. इसमें anti-inflammatory गुण होता है जो जोड़ों के दर्द से आराम दिलाता है.

    • 3-5 बूँद तेल लेकर जोड़ो में मसाज करें, दर्द से आराम मिलेगा.
    • एक कपड़ा ले, उसे कैस्टर तेल में भिगोएं, अतिरिक्त तेल को हल्के से निचोडकर निकाल दे
      फिर उस कपड़े को जॉइंट में जहाँ दर्द हो रहा हो, फैला कर रख दे.
      गर्म पानी को बॉटल में भरकर या हीटिंग पैड में गर्म पानी भरकर उस कपड़े के ऊपर रखें और एक घंटे के लिए छोड़ दें.
      जोड़ो के दर्द या सूजन से आराम मिलेगा.

    br

    2. पीठ दर्द को कम करने में कारगर (castor for back pain) :

    अरंडी तेल पीठ दर्द का एक आयुर्वेदिक उपाय है. अगर आप पीठ दर्द से परेशान है तो कैस्टर तेल से मसाज करें.

    यह ऊपर दी हुई प्रोसेस से तेल से भीगी कपड़े, गर्म पानी का उपयोग करके पीठ दर्द से आराम पा सकते है.

    3. बच्चों में कोलिक पैन का इलाज करे अरंडी तेल (colic pain in baby in hindi) :

    2-4 महीने के बच्चे कभी कभी लगातार रोते रहता है पर इसके पीछे का कारण पता नही चल पाता.
    छोटे बच्चों के पेट की गैस बनने के कारण colic pain पैदा होता है जिसे हम समझ नहीं पाते.
    इस तरह के कोलिक दर्द (colic pain) का इलाज करने में अरंडी का तेल काम आता है.

    • तेल को हल्का गर्म करें, (उबलते पानी मे तेल की शीशी डुबोकर तेल को हल्का गर्म करें),
      अब थोड़ी सी मात्रा लेकर पेट और कोलिक एरिया (पेट का निचला भाग) में मसाज करें.

    4. मांशपेशियों के दर्द में कास्टर तेल का उपयोग (castor oil for muscles pain) :

    अरंडी तेल में anti inflammatory के गुण पाए जाते है जो शरीर मे रहे सूजन व दर्द को दूर करता है.

    यह बड़ो में ही नही नही बच्चों के शरीर मे होने वाले दर्द से भी आराम दिलाता है.

    कास्टर आयल को हल्का सा गरम करके दर्द वाले स्थान पर लगाएं और मसाज करें, बच्चों में पूरे शरीर मे अरण्डी तेल से मसाज करें.

    तेल के फायदे आंखों के लिए (castor oil benefits for eyes in hindi) :


    अरण्डी तेल के फायदे आंखों के लिए

    Castor oil for eyes

    अपने ऊपर कैस्टर आयल के फायदे बालों, त्वचा और दर्द पर देखें, पर इसका अगला फायदा जानकर आप हैरान हो जाएंगे.
    यह आंखों के लिए भी उतना ही फायदेमंद है जितना बालों, त्वचा और दर्द पर है. कैसे ये देखें :

    1. आंखों के सूखेपन का इलाज करे अरंडी तेल (castor oil for dry eyes in hindi) :

    आजकल की प्रदूषित वातावरण और धूल भरी हवाओं से आंखों में सूखापन आ जा रहा है,
    आंखों के सूखेपन का दूसरा सबसे बड़ा कारण है देर रात तक मोबाइल या कंप्यूटर पर काम करना.

    जिनका जॉब कंप्यूटर पर ही निर्भर है उनको यह समस्या बहुत ज्यादा होती है.

    Castor oil का उपयोग सदियों से सूखी आंख के लिए किया जा रहा है. अगर आप भी सुखी आंख के ग्रसित है तो 1-2 बूँद अरंडी तेल आंख में डालें, तुरंत आराम मिलेगा.
    ( Also Read : नेत्रदान कैसे करे? कौन कर सकता है नेत्रदान पूरी जानकारी हिंदी में)

    2. पलकों की ग्रोथ के लिए :

    धूल मिट्टी और प्रदूषण से आंखों की रक्षा करने में पलको का बहुत बड़ा योगदान होता है, पर यही यह कमजोर पड़ जाए तो?
    कमजोर पलक आंखों की रक्षा में असमर्थ हो जाता है और खूबसूरती के लिहाज से भी अच्छा नही लगता.

    जिस तरह या बालों को रेशमी, काला, घना और मुलायम बनाता है उसी तरह यह आंखों की पलकों को स्ट्रांग बनाता है हेल्थी बनाता है.

    फायदे : अरंडी तेल के फायदे स्वास्थ्य के लिए (castor oil benefits for health in hindi)


    अरण्डी के तेल के फायदे

    Castor oil for health

    1. ब्रैस्ट मसाज : डिलीवरी के बाद ज़रूरी है बच्चे के लिए पर्याप्त मात्रा में स्तन से दूध निकले, इसीलिए अरंडी तेल से स्तन की मसाज की जाती है ताकि दूध अच्छे से निकल पाये, हालांकि इसके पीछे कोई चिकित्सकीय प्रमाण नही है पर बुजुर्ग अन्य तेलों से मसाज करने के बजाए अरण्डी तेल को रिकमेंड करते है.

    2. इम्मयून सिस्टम मजबूत बनाये : बच्चों के शरीर मे कैस्टर oil से मसाज करने और T-cell का ग्रोथ होता है जिससे इम्मयून सिस्टम स्ट्रांग बनती है. रक्षाप्रणाली मजबूत होने से बच्चे जल्दी बीमार नही होते.

    3. पेट साफ करने में : एक गिलास दूध में 1-2 चम्मच अरंडी तेल डालें और सफ्ताह में एक बार सेवन करें, इससे पेट साफ होगा, विषाक्त पदार्थों का सफाया होगा.

    4. घाव : घावों को भरने में अरण्डी का उपयोग किया जाता है. घाव वाले स्थान पर अरण्डी तेल लगाएं.

    5. कब्ज़ को ठीक करने के लिए अरंडी के तेल का सेवन करना फायदेमंद हो सकता है

    6. मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द को मिटाने के लिए arandi tel का मालिश किया जा सकता है.

    7. होंठो को नरम बनाने के लिए इसे होंटो पर लगा सकते है.

    अरण्डी तेल के नुकसान (side effects of castor oil in hindi)



    जिस तरह अरंडी तेल के फायदे है उसी प्रकार इसके कुछ side effects है जैसे :

    1. जी मिचलना : अरंडी तेल का प्रयोग पेट की गैस दूर करने के लिए किया जाता है पर इसका गलत उपयोग किया जाए तो उल्टी, या जी मिचलने की शिकायत आ सकती है.

    2. Low blood pressure : इसके गलत इस्तेमाल से low blood pressure की शिकायत आ सकती है.

    3. चक्कर : अरंडी तेल का उपयोग गलत तरीके से करने पर ब्लड प्रेशर कम हो जाता है जिससे चक्कर आने लगती है. इस स्थिति में डॉक्टर से संपर्क करें.

    4. एलर्जी : अरंडी तेल का उपयोग गलत तरीके से करने, त्वचा में गलत इस्तेमाल से एलर्जी, रैशेस, रेडनेस, खुजली आ सकती है.

    5. सांस लेने में दिक्कत हो सकती है.

    6. अनियमित धड़कन : अरंडी के तेल का उपयोग गलत तरीके से करने पर रक्त परिसंचरण अनियमित हो जाता है जिससे दिल की धड़कन भी अनियमित हो जाती है.

    अरंडी के तेल का उपयोग करने का सही तरीका (right way to use castor oil in hindi)

    बालो पर : शैम्पू से सिर धोने के बाद, रेगुलर तेल के जगह या उसके साथ अरंडी तेल का प्रयोग करें.

    दाद पर : 2 चम्मच Arandi tel 2 चम्मच नारियल तेल को मिलाकर दाद पर लगाएं.

    चेहरे पर : चेहरे पर अरंडी के तेल का उपयोग करने से पहले चेहरे को साफ पानी से धो लें, फिर 1-2 बूंद तेल लेकर लगाएं और रात भर रहने दे, यह प्रयोग दिन में कर रहें हों तो 1 घंटे के लिए ऐसे ही छोड़ दे और बाद में धो लें.

    दर्द : दर्द दूर करने के लिए हाथ मे 2-3 बूंद तेल लेकर मालिश करें.

    अरंडी तेल की खुराक (dosages of castor oil in hindi)

    मौखिक खुराक (Oral Solution) 100%

  • Adult Dosage :
    15-60 mL orally in one dose

  • 2 साल के बच्चों के लिए : 1-5 mL orally once
  • 2-12 साल के बच्चों के लिए: 5-15 mL orally once
  • 12 साल से ऊपर के लिए: 15-60 mL orally once

    अरंडी तेल के प्रयोग में सावधानियां

    1. चेहरे में तेल के प्रयोग से पहले चेहरा साफ कर लें.
    2. ऊपर दिए उम्र और डोज़ के आधार पर सेवन करें.
    3. अगर आप कोई अन्य बीमारियों के लिए किसी भी प्रकार का दवाई या सप्पलीमेंट ले रहे है तो अरंडी तेल के मौखिक सेवन से पहले डॉक्टर से बात करे.
    4. प्रेग्नेंसी के दौरान उपयोग करने से बचे या पहले एक बार डॉक्टर से बात करे.
    5. चेहरे में अरंडी तेल या किसी भी प्रकार के तेल से मसाज करने के लिए हमेशा रिंग फिंगर का उपयोग करें, क्योंकि इससे चेहरे की मुलायम त्वचा के लिए कम पर पर्याप्त प्रेशर पड़ता है.

    अरंडी तेल और इसके उपयोग में अक्सर पूछे जाने वाले (frequently asked questions)

    प्रश्न : क्या अरंडी तेल का उपयोग सही है?
    उत्तर : हां, इसका सेवन बिल्कुल सुरक्षित है, इसका कुछ खास साइड इफेक्ट देखने नही मिलता पर अगर आपको इससे एलर्जी हो तो इससे दूर रहे.

    प्रश्न : क्या प्रेग्नेंसी के दौरान उपयोग किया जा सकता है?
    उत्तर : नही, प्रेगनेंसी के दौरान castor oil का उपयोग एलर्जी ला सकती है, इसलिए avoid करें.

    प्रश्न : क्या स्तनपान कराने वाली महिलाएं अरंडी तेल का उपयोग कर सकती है?
    उत्तर : स्तनपान कराने वाली महिलाएं ब्रैस्ट मसाज के लिए इसका उपयोग कर सकती है.

    तो पाठको Benefits of Castor oil in hindi : अरंडी तेल के फायदे और नुकसान यह आर्टीकल कैसा लगा ज़रूर बतायें.
    आगे आने वाली लेख के updates पाने के लिए ईमेल पर सब्सक्राइब कर ले या हमारा फेसबुक पेज लाइक कर ले ताकि नोटिफिकेशन आप तक पहुच जाए. साथ ही पोस्ट को फेसबुक व्हाट्सएप्प में शेयर करना ना भूले. धन्यवाद

    इनके भी फायदे नुकसान पढ़े :

    नींबू | Aloe vera | Rooh afza | मुल्तानी मिट्टी | कलौंजी | ब्लैक बीन | अलसी n

  • Leave a Comment