Press "Enter" to skip to content

सावधान-Google पर ये सर्च करना हो सकता है जानलेवा

0

आजकल हर बात के लिए लोग Google सर्च की मदद लेने लगे हैं। लेकिन कुछ बातों के लिए Google की मदद लेना आप के लिए कितना घातक और जानलेवा हो सकता है, आईये जानें…

क्या आप भी अक्सर गूगल से सर्च करके दवा खाते हैं? यदि हाँ तो जरा सावधान रहें, आप अनजाने में बहुत बड़े खतरे की ओर बढ़ रहे हैं

कोई तकलीफ होने पर गूगल सर्च करके खुद ब खुद दवाएं लेना खतरनाक साबित हो रहा है। दर्द सहित अन्य तकलीफ होने पर लगातार कोई दवा खाना लिवर और किडनी पर असर डाल सकता है। केजीएमयू में पेन क्लिनिक की ओपीडी में आने वाले मरीजों में 10 फीसदी मरीज ऐसे होते हैं, जो गूगल सर्च करके दवा खाने से बड़ी बीमारी की चपेट में आ जाते हैं। इनमें से ज्यादातर युवा होते हैं या फिर ऐसे बुजुर्ग जिनकी देखरेख करने वाले युवा हैं।

दवा सर्च करके खाना साबित हो रहा जानलेवा

सामान्य दर्द और अन्य मामूली तकलीफ होने पर अक्सर लोग गूगल सर्च करके ऑनलाइन ही दवा मंगवा लेते हैं। पेन क्लिनिक में आए एक मरीज ने भी ऐसा ही किया। शुरू में दवा खाने पर आराम मिलता रहा। दर्द होने पर दवा खा लेता था। धीरे-धीरे दवा की लत लग गई और कुछ समय बाद दवा का असर कम होने पर हाई डोज लेनी शुरू कर दी। दिक्कत बढ़ने पर केजीएमयू स्थित पेन क्लिनिक में दिखाने पहुंचे। जांच के बाद पता चला कि ज्यादा पेन किलर खाने से किडनी पर असर पड़ने लगा है। पेन क्लिनिक के डॉ. अजय चौधरी के अनुसार पहले महीने में एक-दो मरीज आते थे। हालांकि धीरे-धीरे संख्या बढ़ती जा रही है।

बिना डॉक्टरी सलाह पेन किलर नुकसानदेह

डॉ. के अनुसार महीने में एक-दो बार पेन किलर लेने में कोई दिक्कत नहीं है। हालांकि लगातार दर्द होने और बार-बार पेन किलर लेने की जरूरत पर सचेत हो जाना चाहिए। ऐसे में डॉक्टर की सलाह के बिना कोई दवा नहीं लेनी चाहिए। इंटरनेट पर सर्च करके या मेडिकल स्टोर संचालक की सलाह पर दवा लेना जानलेवा साबित हो सकता है।

क्लिनिक में पता चला

– 40 से 50 मरीज आते हैं हर ओपीडी में
– 160 से 200 मरीज आते हैं हर हफ्ते
– 10 से 15 मरीज गूगल पर बीमारी सर्च करके दवा खाने वाले होते हैं
– 10 इनमें से क्रॉनिक पेन के होते हैं
– 25 फीसदी कैंसर के क्रॉनिक पेन के मरीज होते हैं।

तो आगे से Google सर्च करें लेकिन Google को डॉक्टर समझने की भूल न करें।

-ProAyurved.com (सर्वे भवन्तु सुखिनः)

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    error: Content is protected !!