HIV ka full form क्या होता है, HIV के कारण, स्टेज, उपचार (hiv full form in hindi) :

HIV एक बहुत ही घातक बिमारी फैलाने वाला virus है जो तेज़ी से बढ़ रही है. HIV एक वायरस है जो एड्स (AIDS) को जन्म देती है. AIDS असुरक्षित यौन संबंध बनाने से फैलता है चाहे वह सामान्य सेक्स, ओरल सेक्स या एनल सेक्स ही क्यों ना हो. यह बीमारी इतनी खतरनाक है कि इससे मौत भी हो जाती है. आज के पोस्ट में HIV ka full form (HIV full form) देखेंगे, साथ ही एड्स के बारे में कुछ जानकारी देंगे कि यह कैसे फैलता है इसके इलाज क्या क्या हो सकते है इत्यादि.

HIV ka full form क्या होता है, HIV के कारण, उपचार (hiv full form in hindi)


HIV ka full form (hiv full form)

Full form of HIV in english : Human immunodeficiency virus
HIV ka full form hindi me : मानवीय प्रतिरक्षी अपूर्णता विषाणु

Full form of AIDS in english : acquired immune deficiency syndrome
Full form of AIDS in hindi : एक्विर्ड इम्मयून डेफिशिएंसी सिंड्रोम है

HIV क्या है?

Hiv एक बहुत ही खतरनाक वायरस है जो AIDS जैसी भयानक बीमारी का कारण बनती है. ऐसा माना जाता है कि HIV infection पश्चिम मध्य अफ्रीका के non human primates में उत्पन्न हुआ था और मनुष्य को हस्तांतरित किया गया था. इसका पहला मामला अमेरिका में 1981 में पाया गया था.

Hiv full form, causes, symptoms, treatment

The red ribbon is a symbol for solidarity with HIV-positive people and those living with AIDS

एड्स क्या है (AIDS)


एड्स HIV वायरस से फैलने वाला रोग है. इससे बुखार, दर्द, कमजोरी, पसीना आना इत्यादि समस्याएं होती है, मौत तक भी हो जाती है. मानव शरीर में इस बीमारी की उपस्थिति के परीक्षण करने का कोई उचित तरीका नहीं है क्योंकि एचआईवी बहुत छोटा है और रक्त से पृथक नहीं किया जा सकता है.

HIV Virus फैलने के कारण

  • सेक्सुअल (sexual) :
    • सामान्य सेक्स, एनल सेक्स, ओरल सेक्स से,
    • एड्स से ग्रस्त व्यक्ति के वीर्य (semen) से,

  • प्रसवकालीन (Perinatal):
    • अगर एक माता एड्स से ग्रसित है तो प्रेगनेंसी के दौरान या प्रेगनेंसी के बाद स्तनपान कराने से एड्स माता से बच्चे के में फैल जाता है

    रक्त (blood) से :

    • Aids से ग्रसित किसी व्यक्ति के खून को दूसरे के शरीर मे चढ़ाने से,
    • सर्वाजनिक सलून में एक ही उस्तरे, ब्लेड से शेविंग करने से
      यह मैन कारण है एड्स फैलने का.

    • एड्स वाले व्यक्ति का रक्त गलती से भोजन में गिर जाने तथा उस
      भोजन का सेवन कर जाने से भी एड्स फैलता है.


  • high blood pressure क्या है, कारण, लक्षण और bp कम करने के आयुर्वेदिक उपचार
  • नेत्रदान कैसे करे? कौन कर सकता है नेत्रदान पूरी जानकारी हिंदी में
  • How to increase sex stamina in hindi ( सेक्स पावर बिना मेडीसिन के)
  • Gastric problem and solution tips in hinid (पेट की गैस दूर करने के घरेलू उपाय)

    AIDS के लक्षण (symptoms of aids in hindi)

    एड्स के लक्षण को 2 भागों में विभाजित किया गया है :
    1. शुरुआती लक्षण (Early symptoms)
    2. एड्स में देरी होने से लक्षण (late stage symptoms)

    1. शुरुआती लक्षण (Early symptoms) : एचआईवी संक्रमण वाले कुछ लोगों को वायरस के होने के बाद कई महीनों या साल तक कोई लक्षण नहीं दिखाई देता, हालांकि, लगभग 80 प्रतिशत मामलों में एड्स के 2-6 सप्ताह के बाद फ्लू के समान लक्षण विकसित हो सकते है. इसे तीव्र रेट्रोवायरल सिंड्रोम कहा जाता है.
    एड्स के शुरुआती लक्षण :

  • 1. बुखार
  • 2. ठंड
  • 3. जोड़ो में दर्द
  • 4. मांसपेशियों के दर्द
  • 5. गले में खराश
  • 6. रात में पसीना आना
  • 7. बढ़ी हुई ग्रंथियां
  • 8. एक लाल धमाका
  • 9. थकान
  • 10. दुर्बलता
  • 11. अनजाने वजन घटाने
  • 12. थ्रश

    याद रखें : ये लक्षण तब प्रकट होते हैं जब शरीर कई प्रकार के वायरस से लड़ रहा है, न केवल एचआईवी से, हालांकि, अगर आपके पास इनमें से कई लक्षण हैं और मानते हैं कि पिछले कुछ हफ्तों में एचआईवी होने का जोखिम हो सकता है, तो आपको test करा लेनी चाहिए.
    अधिकतर वायरस के हमलों से उसी प्रकार का लक्षण प्रकट होता है तो इसे सिर्फ एड्स नही माना जा सकता है.

    2. एड्स में देरी होने से लक्षण (late stage symptoms) : अगर शुरुआती लक्षण का इलाज नहीं किया जाता है, तो शरीर मे एचआईवी संक्रमण से लड़ने की क्षमता कमजोर हो जाती है. आगे चलकर व्यक्ति गंभीर बीमारियों के लिए कमजोर हो जाता है. इस stage को एड्स या stage 3 एचआईवी के रूप में जाना जाता है.

    इसमें मुख्यतः यह लक्षण दिखाई देते हैं:

  • 1. धुंधला दिखाई देना
  • 2. दस्त, जो आमतौर पर लगातार या पुरानी होती हैr
  • 3. सूखी खाँसी
  • 4.100 डिग्री फ़ारेनहाइट (37 डिग्री सेल्सियस) का बुखार
  • 5. रात को पसीना
  • 6. थकान
  • 7. सांस की तकलीफ
  • 8. ग्रंथियों में सूजन
  • 9. अनजाने वजन घटाने
  • 10. जीभ या मुंह पर सफेद धब्बे

    Late-stage एचआईवी संक्रमण के दौरान, खतरनाक बीमारी विकसित होने का जोखिम होता है जो मौत तक चली जाती है.

    एड्स के उपचार (treatment of aids in hindi)

    HIV ka full form in hindi

    HIV/AIDS

    एड्स का उपचार अभी असंभव है क्योंकि इसके लिए अभी तक किसी भी तरह की दवाई, वेक्सीन नही बन पाया है. एचआईवी बहुत छोटा है जिसके कारण इसे रक्त से पृथक नहीं किया जा सकता है. फिलहाल में antiretroviral drugs से एड्स के लक्षणों का उपचार किया जाता है जो एड्स के गंभीर हालतों को रोकता है.

    – एड्स से बचने के लिए ज़रूरी है कि एड्स फैलने ही ना दें, इसके लिए
    सुरक्षित तरीको से संबंध बनाए,
    – अलग अलग महिलाओं या पुरुषों से संबंध ना बनाए,
    – कंडोम का उपयोग करें,
    – सर्वाधिक सलून में शेविंग कराते समय ध्यान रखें कि उस्तरा और ब्लेड बदला गया हो,
    – एक ही इंजेक्शन का अलग अलग मरीज़ो में इस्तेमाल ना करें,
    – किसी व्यक्ति से खून लेने से पहले उनकी जांच करवा लें.

    एड्स से संबंधित झूठ

    कुछ लोग/ बहुत से लोग यह सोचते है कि यदि हम एड्स से पीड़ित व्यक्ति से हाथ मिलाते है, गले मिलते है, या उसके साथ बैठ कर खाना खाते है तो एड्स हममें भी फैल सकता है, पर यह झूठ है. एड्स गलत संबंध, रोगी के खून से फैलता है ना कि रोज़ाना की कामों से,
    एड्स इन सब से नही फैलता है:

      – हाथ मिलाना
      – गले मिलना
      – चुंबन
      – छींक आना
      – साफ सुथरी त्वचा को छूना (त्वचा कटा न हो)
      – एक ही शौचालय का उपयोग करना
      – तौलिए साझा करना
      – या “अनौपचारिक संपर्क” के अन्य रूप
      इत्यादि से एड्स नही फैलता है.


  • अरंडी तेल के फायदे और नुकसान
  • Flax seed in hindi – अलसी के फायदे
  • अश्वगंधा के फायदे और नुकसान
  • दालचीनी के फायदे और नुकसान

    तो पाठको HIV ka full form क्या होता है, HIV के कारण, स्टेज, उपचार (hiv full form in hindi) यह पोस्ट कैसा लगा कॉमेंट करके बतायें, अगर इस संबंध में और अधिक जानकारी चाहिए तो कमेंट में बता सकते है.
    आगे आने वाली लेख के updates पाने के लिए ईमेल पर सब्सक्राइब कर ले या हमारा फेसबुक पेज लाइक कर ले ताकि नोटिफिकेशन आप तक पहुच जाए. साथ ही पोस्ट को फेसबुक व्हाट्सएप्प में शेयर करना ना भूले. धन्यवाद

    Leave a Comment