Mobile Phone Side Effects से बच्चों को कैसे बचायें?

जैसा कि आप सब जानते हैं कि mobile phone हमारे जीवन का अभिन्न अंग बन चुका है। अब mobile phone के बिना जीने की कल्पना भी नहीं कर सकते, क्योंकि हम आज के समय में इस पर पूरी तरह से निर्भर हो चुके हैं। जैसे हर वैज्ञानिक अविष्कार के फायदे हैं तो नुकसान भी होते हैं उसी तरह mobile phone के भी बहुत से फायदे हैं तो ढेरों नुकसान भी हैं। तो आईये आज हम सब जानते हैं mobile phone effects के बारे में विस्तार से…

Mobile Phone Effects बच्चों पर क्या-क्या है?

Mobile phone effects में सबसे पहले देखते हैं कि माता-पिता बच्चों के mobile phone इस्तेमाल को लेकर क्या सोचते हैं.. एक सर्वे के अनुसार 92% माता-पिता सोचते हैं कि सोशल मीडिया / इंटरनेट साइबर-धमकाने (50%) के साथ युवा लोगों के मानसिक स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डाल रहा है, आत्म-सम्मान कम कर रहा है (41%), पर्याप्त पसंद / अनुयायी प्राप्त करने पर चिंता ( 40%), आमने-सामने की बातचीत का नुकसान (47%), गुणवत्ता की नींद की हानि (43%), और प्रारंभिक यौन-क्रिया का प्रोत्साहन (39%) इसके मुख्य कारण हैं।

Mobile phone effects के बारे में लगभग आधे माता-पिता कहते हैं कि उनका बच्चा इंटरनेट और सोशल मीडिया (49%) के परिणामस्वरूप अपनी उपस्थिति के बारे में चिंतित है। 79% माता-पिता सोचते हैं कि अंडर -18 के लिए सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई शर्मनाक और हानिकारक सामग्री को हटाने का अधिकार होना चाहिए जो बाद में उनकी नौकरी या शिक्षा की संभावनाओं को नुकसान पहुंचा सकता है।

Mobile Phone Effects के कारण क्या माता-पिता और स्कूलों को Mobile Phone का उपयोग बंद या कम करना चाहिए?

Mobile phone effects के चलते बच्चे और किशोरों के मनोचिकित्सकों के अनुसार प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल माता-पिता के साथ एक संधि विकसित करने के लिए काम कर सकते हैं जहां एक निश्चित वर्ष के समूह में सभी माता-पिता सहमत होंं कि वे अपने बच्चे के लिए एक स्मार्टफोन नहीं खरीदेंगे, बस एक बहुत ही बुनियादी फोन। वह सब उनकी जरूरत है। तब माता-पिता स्मार्टफ़ोन को ‘नहीं’ कह सकते हैं।

अगर हर कोई ऐसा करता है, तो Mobile phone effects के कारण कोई भी बच्चा स्मार्टफोन नहीं होने के लिए अपनी कक्षा में अद्वितीय है। स्कूलों को फायदा होगा क्योंकि बच्चे क्लास में अलर्ट रहेंगें क्योंकि वे आधी रात को नहीं सोये होंगे और वे रात में अपने स्मार्टफोन पर नही रहेंगे। बच्चों पर, उन कई बोझों को कम किया जाएगा, जो बार-बार फोन पर आते हैं और सोशल मीडिया की जाँच करते हैं।

ऐसा होने से माता-पिता बिलों पर पैसे बचाएंगे और अपने बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य की रक्षा करने में मदद करेंगे। क्योंकि सच में स्मार्टफोन सिर्फ फोन नहीं होते हैं, बल्कि अत्यधिक परिष्कृत कंप्यूटर होते हैं।

Mobile Phone के एडिक्ट हो रहे हैं किशोर

Mobile phone effects के कारण आधे किशोर अब अपने मोबाइल उपकरणों के आदी महसूस कर रहे हैं, यह मानसिक स्वास्थ्य पर बुरा असर कर रहा है। Mobile phone effects के कारण यह इस प्रकार का नशा बन गया है कि यदि किसी बच्चे के हाथ से मोबाइल छीन लिया जाता है तो वह आक्रमक हो जाता है। वह अपने अभिभावकों को आत्महत्या करने तक की धमकी दे देता है।

Mobile phone effects की वजह से बच्चों के लिए Mobile phone का कितना इस्तेमाल है सही?

01 घंटे से ज्यादा समय नहीं गुजारने देना चाहिए 2 से 5 साल के बच्चों को स्क्रीन पर रोजाना02 घंटे तक बढ़ा सकते हैं यह अवधि किशोरों के लिए, रात 9 बजे के बाद प्रयोग पर रोक लगाएं

कैसे पहचानें बच्चों में Mobile Phone की लत को?

दिन में 8 से 12 घंटे तक मोबाइल का इस्तेमाल करनाहर 10 मिनट बाद मोबाइल की स्क्रीन देखने की चाहतसोशल मीडिया पर दिन में 8 घंटे से अधिक का समय देनाअपने पोस्ट पर कमेंट, लाइक के लिए बार-बार मोबाइल देखना

Mobile Phone Effects के चलते बार-बार Phone इस्तेमाल के क्या हैं नुकसान?

अनिद्रा का खतरा : स्मार्टफोन से निकलने वाली नीली रोशनी से न सिर्फ सोने में दिक्कत आती है, बल्कि बार-बार नींद टूटती है।

आंखों को नुकसान : Mobile Phone Effects के कारण इसके ज्यादा प्रयोग से रेटिना को नुकसान होने का खतरा रहता है।

मोटापा व बीमारियां : एक शोध के मुताबिक Phone से चिपके रहने से दिनचर्या अनियमित रहती है। इससे मोटापे और टाइप-2 डायबिटीज की आशंका बढ़ जाती है।

Mobile Phone Effects से बचने के लिए पेरेंट्स इन Apps से बच्चों की Online Activity को कर सकते हैं कंट्रोल

  • MMGuardian Parental Control For Parents App

Mobile Phone Effects से अपने बच्चे को बचाने हेतु इस एप से अभिभावक न सिर्फ यह जान सकते हैं कि उनका बच्चा कितनी देर से किस साइट या एप से चिपका हुआ है, बल्कि दूर बैठे उसका फोन भी लॉक कर सकते हैं। बच्चे के फोन पर आने वाले कॉल, एसएमएस, ईमेल की जानकारी जुटाने की सुविधा भी इस एप में उपलब्ध है। यूजर 4.3 रेटिंग वाले इस एप को गूगल प्ले से मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं।

  • Family Time Parental Controls & Screen Time App

Mobile Phone Effects से बचने के लिए यह App फेसबुक, यू-ट्यूब, इंस्टाग्राम सहित विभिन्न एप के इस्तेमाल की अवधि निर्धारित करने की सुविधा देता है। तय अवधि आते ही संबंधित एप उस दिन के लिए ‘लॉक’ हो जाएंगे। ‘फैमिली टाइम’ पर वयस्क साइटें ब्लॉक करने, फोन प्रयोग की अवधि-लोकेशन देखने और कॉल-एसएमएस पर नजर रखने का विकल्प भी मौजूद है। गूगल प्ले स्टोर पर 3.8 रेटिंग वाला यह एप मुफ्त में उपलब्ध है।

  • Screen Time Parental Control

Mobile phone effects से बचाने के लिए गूगल प्लेस्टोर पर मुफ्त में उपलब्ध इस एप से माता-पिता यह जान सकते हैं कि उनके बच्चे ने कब किस एप-साइट का कितनी देर इस्तेमाल किया है। बच्चा अगर किसी नए एप को डाउनलोड करता है तो इसकी जानकारी भी अभिभावकों के पास पहुंच जाएगी। उसने किस साइट पर क्या सामग्री खंगाली है, यह भी पता चल जाएगा। ‘स्क्रीन टाइम पैरेंटल कंट्रोल’ को 3.9 रेटिंग हासिल है।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!