Teacher हुए Cheater और पढ़ाई हो गयी फटीचर

KBC में 7 करोड़ जीतने का दावा करने वाली Tuition Teacher नहीं दे पाईं तीसरी कक्षा के सवाल का जवाब

महाराष्ट्र के कल्याण क्षेत्र में रहने वाली इस प्रतिभागी का नाम अश्विनी भोसले था. जब उनके बारे में अमिताभ बच्चन ने KBC टीम की ओर से दिखाए गए वीडियो दिखाया तो उन्हें ये कहते हुए सुना गया कि वो KBC से सात करोड़ रुपये जीत लेंगी. उन्होंने KBC में दावा किया कि वो सात करोड़ जीत लेंगी.

यही नहीं जब अमिताभ ने उनसे पूछा कि आप बच्चों को क्या पढ़ाती हैं कि तो उन्होंने बताया कि वो सभी विषयों का ट्यूशन देती हैं. पर चौंकाने बात ये कि उन्होंने खेल के शुरुआत में एक दूसरी या तीसरी कक्षा में पूछे जाने वाले सवाल का सही जवाब नहीं दे पाईं. उन्होंने सवाल के जवाब के लिए Lifeline का इस्तेमाल किया. बाद में ऑडिएंस पोल से वो सवाल का जवाब देने में सफल हुईं.

ये था सवाल- इनमें से किसका मान सबसे अधिक है?

a. 100-1 b. 200-111 c. 300-222 d. 400-333

एक केंद्रीय विद्यालय की Teacher के अनुसार आमतौर पर इस स्तर का जोड़-घटना दूसरी कक्षा तक सिखा दिया जाता है. उनके अनुसार सरकारी शिक्षा में पहली कक्षा आमतौर पर 99 तक के जोड़-घटानों पर ध्यान दिया जाता है.

हालांकि अब बच्चे पहले से काफी तैयार होकर आते हैं. वे ये पहले सीखे होते हैं. इसके बाद दूसरी कक्षा में 999 तक जोड़-घटाने सिखाए जाते हैं. लेकिन अगर कोई छात्र-छात्रा तीसरी कक्षा में आने के बाद भी यह सवाल हल नहीं कर पाता तो उसे कमजोर माना जाता है.

जवाब: 100—1

ऐसे ही KBC के एक एपिसोड में ग्रेटर नोएडा के एक महँगे कांवेंट स्कुल की गणित की Teacher दीपिका शर्मा हॉट सीट पर पहुंचीं। उनसे अमिताभ बच्चन ने एक आसान सा सवाल पूछा जिसमें उन्होंने पूछा था कि…

10 हजार पैसे में कितने रुपये होंगे ?

गणित की Teacher होने के नाते उन्हें इस सवाल का जवाब जरूर पता होना चाहिए था लेकिन आश्चर्य की बात है कि वो इस सवाल के जवाब में बगलें झांकती नजर आयी और उन्हें इस प्राइमरी स्तर के प्रश्न का जवाब देने के लिए Lifeline तक का इस्तेमाल करना पड़ा। ऑडियंस पोल की मदद से Teacher दीपिका शर्मा ने इस सवाल का सही जवाब देकर तीन हजार रुपये जीते।

वहीं दूसरी ओर इस हाई फाई Teacher से पहले हॉट सीट पर पहुंचे एक कम पढ़े लिखे एवं पेशे से बिजली मिस्त्री रनजीत कुमार ने सभी सवालों का एकदम सही जवाब देते हुए 25 लाख रुपये जीत लिए।

ये उदाहरण इस बात का जीता जागता सबूत है कि शिक्षा का स्तर दिनों दिन कितना गिरता जा रहा है। स्कूल में बच्चों को गणित पढ़ाने वाली Teacher को ये नहीं पता है कि पैसे को रुपये में कन्वर्ट कैसे किया जाता है। ऐसे में बच्चों से क्या उम्मीद की जा सकती है।

शो के दौरान ही ये भी बताया गया कि इन Teacher महोदया को TikTok Video बनाने का इतना शौक है कि ये 250 से ज्यादा TikTok Video बना चुकी हैं और TikTok Queen के नाम से मशहूर हैं।

तो ऐसे हैं नए जमाने के ये Teacher जो Teacher कम Cheater ज्यादा हैं। इनको Cheater कहना इसलिए भी जायज है क्योंकि ये TikTok, Facebook, Instagram, Twitter या Selfie लेने में ही ज्यादा बिजी रहते है और बच्चों के भविष्य और अभिभावकों की मेहनत की कमाई दोनों के साथ धोखा या Cheating करते हैं।

निजी स्कूलों की फीस में हो रही बेतहाशा बृद्धि से एक ओर जहां हर अभिभावक त्रस्त हैं वहीं दूसरी ओर Teacher के रूप में लगभग हर School में मौजूद ये Cheater जिन्हें बच्चों के भविष्य से ज्यादा अपना मनोरंजन प्रिय है।

गौरतलब है कि teacher बनने के लिए बीएड की डिग्री ही जरूरी होती है जो आजकल लाइन से खुले सेल्फ फाइनेंस कॉलेजों से पैसे देकर बिना रेगुलर कोर्स अटेंड किये ही बड़ी आसानी से उपलब्ध हो जा रही है।

यहाँ तक की उपस्थिति से लेकर एसाइनमेन्ट आदि तक भी पैसे देकर आजकल बड़ी आसानी से मैनेज हो जाता है। और इस तरह से बिना ट्रेनिंग किये ही अधकचरा ज्ञान लिए कोई भी अनुभवहीन व्यक्ति बड़ी सरलतापूर्वक बीएड की डिग्री लेकर किसी भी स्कूल में Teacher बन जाता है और बच्चों के भविष्य से खिलवाड करता है।

स्कूलों के लिए तो एक Teacher की नियुक्ति हेतु सिर्फ बीएड की डिग्री होना ही प्रयाप्त है। बाकी आजकल Google और तमाम ऐसे एप भी उपप्लब्ध है जिनकी मदद से कोई अज्ञानी और अनुभवहीन भी बड़ी आसानी से Teaching के पेशे से जुड़े रहते हैं और उनकी असलियत किसी के सामने नहीं आने पाती है।

लेकिन ऐसे रँगे सियार जैसे शिक्षकों की पोल तब खुलती है जब सार्वजनिक रूप से ये किसी आसान से सवाल का जवाब नहीं दे पाते या दो लाइन का आवेदन तक नहीं लिख पाते। ऐसे TikTok वाले टाइम पास फर्जी शिक्षकों के कारण ही दिनोंदिन शिक्षा का स्तर गिरता जा रहा है जो हमारी आने वाली पीढ़ी के लिए बहुत नुकसानदेह है।

teacher, cheater, tiktok, teaching

error: Content is protected !!