Press "Enter" to skip to content

तुलसी : स्वस्थ निरोगी जीवन का राज Tulsi Benefits in Hindi

0

Tulsi Benefits in Hindi तुलसी एक ऐसा पौधा है जिसे आयुर्वेद में पूज्यनीय माना जाता है। क्या हैं इस पौधे के वे औषधीय गुण जिनके कारण इसे पूज्यनीय माना जाता है…आईये जानते हैं..Tulsi Benefits in Hindi..

Tulsi Benefits in Hindi तुलसी की खुशबू सांस संबंधित कई प्रकार के रोगों से लड़ने में सहायक है। तुलसी की एक पत्ती के रोजाना सेवन से हम बुखार और मौसम से होने वाली बीमारियों से बचे रह सकते हैं। तुलसी की पत्ती के नियमित सेवन करने से हमारे शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता कई हद तक बढ़ जाती है।

*तुलसी का जितना धार्मिक महत्व है उतना ही औषधीय महत्व भी है। इसे आयुर्वेद में संजीवनी बूटी के समान माना गया है। Tulsi Benefits in Hindi तुलसी में कई औषधीय गुण होते हैं जो कई तरह की बीमारियों को दूर और रोकथाम करने में सहायक हैं।

तुलसी का पौधा घर में लगाने से वातावरण पवित्र होता है उसकी सुगंध से हवा में व्याप्त कई तरह की अशुद्धियां और बीमारी फैलाने वाले सूक्ष्म कीटाणुओं का नाश हो जाता है।

*तुलसी के पत्तों का सेवन करते समय ध्यान रखना चाहिए कि इन पत्तों को कभी नहीं चबाना चाहिए, बल्कि इनको निगल लेना चाहिए। तुलसी की पत्ती कई रोगों में फायदेमंद होती है। तुलसी की पत्तियों में पारा धातु के तत्व भी विद्यमान होते हैं जो कि चबाते समय दांत पर लगे रह जाते हैं। ये तत्व दांत के लिए ठीक नहीं होते हैं इसलिए बिना चबाए निगल लेना चाहिए। Tulsi Benefits in Hindi

ये हैं तुलसी के फायदे…Tulsi Benefits in Hindi

* सुबह खाली पेट खाएं तुलसी की दो पत्तियां, 15 दिन में दिखेगा फायदा।

* तुलसी में कई औषधीय गुण पाए जाते है। यह बहुत सी बीमारियों के उपचार में भी काम आती है।

तुलसी का पौधा घर में लगाना शुभ माना जाता है। इस पौधे का भारतीय संस्कृति और हिन्दू धर्म से गहरा नाता तो है ही साथ ही में यह व्यक्ति की सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद है।Tulsi Benefits in Hindi

* रोज सुबह तुलसी का पत्ता खाने की आदत डालें तो आपको सेहतमंद रहने में मदद मिलेगी। इससे न सिर्फ सर्दी, खांसी जैसी समस्याएं दूर होंगी बल्कि पाचन भी सही रहेगा। तुलसी में ऐंटी-बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती हैं।

सुबह खाली पेट तुलसी का एक पत्ता खाने से कुछ ही दिनों में आपको सर्दी-खांसी से राहत मिल जाएगी।Tulsi Benefits in Hindi

* तुलसी के पत्ते पाचन को सही रखने में मदद करते हैं। इसके साथ ही ऐसिडिटी और पेट में जलन की परेशानी को भी यह दूर रखता है। बॉडी के पीएच लेवल को मेनटेन करने में भी तुलसी मददगार साबित होती है।

* स्टडीज की मानें तो तुलसी के पत्ते में मौजूद अडैप्टोजेन स्ट्रेस को कंट्रोल करने में मदद करता है। यह नर्वस सिस्टम को रिलैक्स करते हुए ब्लड फ्लो को सुधारता है

तुलसी के पत्तों से सिरदर्द में भी राहत मिलती है। स्ट्रेस व सिरदर्द की परेशानी से निपटने के लिए रोज सुबह खाली पेट 2-3 तुलसी की पत्तियों का सेवन करें।Tulsi Benefits in Hindi

सांस संबंधी समस्याओं का उपचार करने में तुलसी खासी उपयोगी साबित होती है। शहद, अदरक और तुलसी को मिलाकर बनाया गया काढ़ा पीने से ब्रोंकाइटिस, दमा, कफ और सर्दी में राहत मिलती है। नमक, लौंग और तुलसी के पत्तों से बनाया गया काढ़ा इंफ्लुएंजा (एक तरह का बुखार) में फौरन राहत देता है।

* तुलसी गुर्दे को मजबूत बनाती है। यदि किसी के गुर्दे में पथरी हो गई हो तो उसे शहद में मिलाकर तुलसी के अर्क का नियमित सेवन करना चाहिए। छह महीने में फर्क दिखेगा।Tulsi Benefits in Hindi

* तुलसी खून में कोलेस्ट्राल के स्तर को घटाती है। ऐसे में हृदय रोगियों के लिए यह खासी कारगर साबित होती है।Tulsi Benefits in Hindi

* तुलसी की पत्तियों में तनाव रोधीगुण भी पाए जाते हैं। हाल में हुए शोधों से पता चला है कि तुलसी तनाव से बचाती है। तनाव को खुद से दूर रखने के लिए कोई भी व्यक्ति तुलसी के 12 पत्तों का रोज दो बार सेवन कर सकता है।

* तुलसी कई रोगों को दूर करने और शरीर की इम्‍यूनिटी बढ़ाने में बड़ी कारगर है।Tulsi Benefits in Hindi

* यह पौधा शरीर की इम्‍यूनिटी बढ़ाने के साथ बैक्‍टीरिया और वायरल इंफेक्‍शन से लड़ता है. इसके अलावा तुलसी स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कई मायनों में गुणकारी है।Tulsi Benefits in Hindi

* आयुर्वेद में कहा गया है कि अगर आप अपने घर में तुलसी लगाते हैं तो स्‍ट्रेस यानी कि तनाव घर से कोसों दूर रहता है।Tulsi Benefits in Hindi

* तुलसी के पत्तों के रस को गर्म करके दो-दो बूंद कान में टपकाने से कान का दर्द दूर होता है.– तुलसी के पत्ते, एरंड की कोपलें और चुटकी भर नमक को पीसकर कान पर उसका गुनगुना लेप लगाने कान के पीछे की सूजन चली जाती है।Tulsi Benefits in Hindi

* तुलसी एक ऐसा पौधा है जो मसक्‍यूटो रेपलेंट यानी मच्‍छरों को दूर भगाता है. मलेरिया पर प्रकाश‍ित जर्नलों में कहा गया है कि तुलसी कीड़े-मकौड़ों और मच्‍छरों को भगाने में असरदार औषध‍ि है. यही वजह है कि आपको खासकर मॉनसून में तो तुलसी घर पर जरूर लगानी चाहिए। Tulsi Benefits in Hindi

बेडरूम में तुलसी लगाने से ऑक्‍सीजन सप्‍लाई बढ़ जाती है. यह वह पौधा है जो दिन के 20 घंटे ऑक्‍सीजन देने के साथ ही कार्बन मोनोऑक्‍साइड, कार्बन डाइऑक्‍साइड और सल्‍फर डाइऑक्‍साइड जैसी ज़हरीली गैसों को सोख लेता है।Tulsi Benefits in Hindi

* तुलसी बीमार‍ियों से भी लड़ने के लिए जानी जाती है। खांसी या बुखार में तुलसी के पत्तों को चाय में डालकर पीने से आराम मिलता है। आप गरम पानी में तुलसी और इलायची डालकर उसका काढ़ा बना सकते हैं। तुलसी का काढ़ा खून को साफ करने का काम करता है और इससे कॉलेस्‍ट्रोल लेवल भी कम होता है।Tulsi Benefits in Hindi

* आप तुलसी के पत्तियों की मदद से किडनी की पथरी से छुटकारा पा सकते हैं। तुलसी के पत्तों को गरम पानी में डालकर उसका सारा अर्क निकाल लीजिए। इसके बाद उसमें एक चम्‍मच शहद मिलाकर रोजाना पीने से घर पर ही किडनी की पथरी का इलाज हो जाएगा।

* काली मिर्च और तुलसी के पत्तों की गोली बनाकर दांत के नीचे रखने से दांत के दर्द में आराम मिलता है.- तुलसी के रस को हल्के गुनगुने पानी में मिलाकर कुल्ला करने से गले की बीमारियों से छुटकारा मिल जाता है.- तुलसी के रस वाले पानी में हल्दी और सेंधा नमक मिलाकर कुल्ला करने से मुंह, दांत और गले का दर्द दूर होता है। Tulsi Benefits in Hindi

* तुलसी की खुशबू घर वातावरण को ताजा रखती ही है साथ ही घर को भी फ्रेश अरोमा मिलता है. यही नहीं इस पौधे में ऐसे तत्‍व हैं जो खराब मूड को अच्‍छा करने का काम करते हैं।Tulsi Benefits in Hindi

तनाव को दूर करने में भी तुलसी बहुत कारगर साबित होती है. कई स्टडी में ये साबित हो चुका है कि तुलसी की पत्तियों के सेवन से तनाव कम होता है।Tulsi Benefits in Hindi

* अक्सर महिलाओं को पीरियड्स में अनियमितता की शिकायत हो जाती है. ऐसे में तुलसी के बीज का इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है।Tulsi Benefits in Hindi

* अगर आपको सर्दी या फिर हल्का बुखार है तो मिश्री, काली मिर्च और तुलसी के पत्ते को पानी में अच्छी तरह से पकाकर उसका काढ़ा पीने से फायदा होता है. आप चाहें तो इसकी गोलियां बनाकर भी खा सकते हैं।Tulsi Benefits in Hindi

* सांस की दु्र्गंध को दूर करने में भी तुलसी के पत्ते काफी फायदेमंद होते हैं और नेचुरल होने की वजह से इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता है. अगर आपके मुंह से बदबू आ रही हो तो तुलसी के कुछ पत्तों को चबा लें. ऐसा करने से दुर्गंध चली जाती है।

* अगर आपको कहीं चोट लग गई हो तो तुलसी के पत्ते को फिटकरी के साथ मिलाकर लगाने से घाव जल्दी ठीक हो जाता है. तुलसी में एंटी-बैक्टीरियल तत्व होते हैं जो घाव को पकने नहीं देता है. इसके अलावा तुलसी के पत्ते को तेल में मिलाकर लगाने से जलन भी कम होती है।

त्वचा संबंधी रोगों में तुलसी खासकर फायदेमंद है. इसके इस्तेमाल से कील-मुहांसे खत्म हो जाते हैं और चेहरा निखार आता है।

सर्दियों में तुलसी के पौधों को सूखने से कैसे बचाएँ?Tulsi Benefits in Hindi

-तुलसी में ठडा पानी ना डालें। अगर हो सके तो थोडा गुनगुना पानी तुलसी में डाल सकते हैं। पानी में कच्चा दूध मिलाकर तुलसी की पूजा करना ज्यादा बेहतर होगा। इससे पत्तों में नमी रहेगी और वह ठंड में भी हरी भरी रहेंगी। Tulsi Benefits in Hindi

-शीत ऋतु में तुलसी के पौधे को ठंड से बचाने के लिए तुलसी के पौधे के नीचे सुबह-शाम एक दीपक जलाकर रख दें जो देर तक जले। इससे पौधे को गरमाहट मिलती रहेगी। Tulsi Benefits in Hindi

-हफ्ते में एक दिन तुलसी की जड़ों की मिट्टी को चाकू से हल्की कर दें। तुलसी की जड़ में सरसों की खली डालकर भी इनकी रक्षा कर सकते हैं। Tulsi Benefits in Hindi

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    error: Content is protected !!