यूरिन इन्फेक्शन क्या है? लक्षण, कारण और आयुर्वेदिक इलाज (urine infection in hindi) :
यूरिन इंफेक्शन आज के समय मे आम समस्या हो गयी है. मीटिंग देर तक चल रही हो, या सफर के दौरान या रास्ते मे उपयुक्त जगह न मिलने पर पेशाब को रोकना पड़ता है. जैसे जमा हुए पानी पर बैक्टेरिया उत्पन्न हो जाते हैं वैसे ही रुके हुए पेशाब पर बैक्टेरिया जन्म ले लेती है और यूरिन इंफेक्शन का कारण बनती है. यह समस्या आम हो गयी है अकेले भारत मे 10 milion cases आते है, इंटरनेट पर भी लोग यूरिन इंफेक्शन क्या है?, यूरिन इंफेक्शन के घरेलू उपाय, यूरिन इंफेक्शन के इलाज, यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज जैसे तरह तरह के सवाल सर्च करते है. और आप भी यह जानना चाहते होंगे. तो इस आर्टिकल में यूरिन इंफेक्शन क्या है, इसके लक्षण, कारण और दूर करने घरेलू उपाय के बारे में.

यूरिन इन्फेक्शन क्या है? लक्षण, कारण और आयुर्वेदिक इलाज (urine infection in hindi) :


यूरिन इन्फेक्शन जिसे urine tract infection (UTI) भी कहा जाता है जो मूत्र मार्ग में आने वाली संक्रमण है. मूत्र मार्ग से तात्पर्य किडनी, ureters, ब्लैडर, internal penis, internal vagina इत्यादि है जो इनमें से कहीं भी हो सकता है 100 में 80 लोग कभी ना कभी इस समस्या से परेशान हुए है. तो चलिए इसके बारे में पूरी डिटेल्स पता करते है.

यूरिन इन्फेक्शन क्या है?urine infection in hindi

यूरिन इन्फेक्शन का आयुर्वेदिक इलाज

Urine tract infection (UTI) मूत्र मार्ग में होने वाली इंफेक्शन है जो मूत्र के ठहराव में बैक्टीरिया की वजह से होती है. कभी कभी fungi के कारण होता है तो कभी virus के कारण पर यह बहुत दुर्लभ है. Urine infection के 2 चरण है.

1. UTI (lower tract)
2. UTIs ( upper tract)
UTIs बहुत ही खतरनाक condition है. इसके लिए डॉक्टर से संपर्क करने की ज़रूरत होती है, लेकिन अधिकतर मामलों में केस 1. यानि UTI होता है जिसे कुछ घरेलू उपाय और lifestyle बदलकर ठीक किया जा सकता है.

यूरिन इन्फेक्शन कैसे होता है इसके कारण (causes of urine infection in hindi) :

  • यूरिन इंफेक्शन होने के बहुत से कारण हो सकते है जैसे.
      1. लम्बे समय तक पेशाब रोक के रखना,
      2. किडनी पथरी (kidney stone),
      3. डायबिटीज (diabetes),
      4. सर्जरी या बेड रेस्ट के कारण गतिशीलता में कमी होना,
      5. काम पानी पीना,
      6. तेज़ मिर्च, मसलों के सेवन से,
      7. अत्यधिक शराब पीने से,
      8. दूषित पानी पीने से,

    यूरिन इंफेक्शन के लक्षण (symptoms of urine infection in hindi) :

  • यूरिन इंफेक्शन होने पर कुछ लक्षण दिखाई देते है जैसे :
      1. पेशाब में जलन,
      2. बार बार पेश लगना,
      3. increased urgency of urination,
      4. मूत्र में खून,
      5. मूत्र से धुआं उठना,
      6. मूत्र का अत्यधिक पीलापन,
      7. मूत्र से तेज़ बदबू आने,
      8. महिलाओं में pelvic में दर्द,
      9. पुरुषो के मलाशय में दर्द,
      10. थोड़ी थोड़ी मात्रा में urine निकलना,
      11. पेशाब का रुक रुक के होना,
      12. गुप्त अंगो में खुजली होना,
      13. भूख न लगना.
  • अगर UTIs infection हो तो कुछ लक्षण ये हो सकते है.
      1. थकान,
      2. अत्यधिक ठंड लगना,
      3. उल्टी होना,
      4. जी मचलना,
      5. बुखार,
      6. ऊपरी पीठ और पक्षों में दर्द.

    महिलाओं को ज़्यादा सावधानी बरतना चाहिए

    महिलाओं और लड़कियो को हर मौसम में बहुत सी बाते को ध्यान में रखनी चाहिए। एक research से पता चला है कि यूरिन infection का अनुपात 8:1 है, जिसमे 8 महिलाओं का और 1 पुरुषों का है. महिलाओं को जिस समय पेशाब आये उसी समय कर लें तो ज़्यादा अच्छा होता है ज़्यादा देर तक पेशाब को रोकने की कोशिश नहीं करना चाहिए. क्योंकि पेशाब में bacteria होते हैं जो इन्फेक्शन पैदा करते है.

  • Aloe vera के 10 आश्चर्यजनक फायदे
  • अंडरआर्म का कालापन दूर करने के लिए घरेलू उपाय
  • सेक्स पावर बढ़ाने के घरेलू उपाय

    यूरिन इंफेक्शन के ट्रीटमेंट के लिए डॉक्टर ultrasound, intravenous pyelogram (IVP), cystoscopy जैसे कुछ checkup करते है फिर उसके अनुसार दवाई देते है, यूरिन का सैंपल लेकर टेस्ट करते है, अगर डॉक्टर को urine में blood दिखाई दे तो इंफैक्शन के लिए कुछ दावा बताएंगे.

    यूरिन इंफेक्शन आयुर्वेदिक / घरेलू इलाज (home remedy for urine tract infection in hindi) :


    बहुत से मामलों में आयुर्वेदिक का यूरिन इंफेक्शन को पूरी तरह से ठीक कर पाना मुश्किल है पर दवाओं की शक्ति बढ़ाने के लिए ये आयुर्वेदिक उपाय help कर सकते है.

    1. पानी (water) :
    पानी बहुत से रोगों के लिए एक बेहतर उपाय है. रोज़ 8-10 गिलास पानी पियें. किडनी या मूत्र मार्ग में हुए infaction को मूत्र द्वारा निकाल कर यूरिन समस्या दूर कर सकता है.

    Urine infection synonyms in hindi

    – पानी हमेशा उबाल कर पियें.
    – दूषित पानी का उपयोग ना करे.
    – मूत्र में जलन होने पर पानी बहुत ही लाभकारी है.

    2. क्रैनबेरी फल(cranberry) :
    क्रैनबेरी फल एक antibiotic की तरह काम करता है जो पेशाब के रस्ते में होने वाले संक्रमण का एक बेहतर प्राकृतिक उपाय है. लेकिन यह फल सबसे प्रभावी होने के साथ साथ थोड़ा महंगा भी होता है क्योंकि क्रैनबेरी का फल आसानी से हर जगह उपलब्ध नहीं है, 3-4 दिन तक क्रनबेररी जूस का सेवन करने से यूरिन संक्रमण काफी हद तक ठीक हो जाता है।
    क्रैनबेरी जूस बहुत ही कड़वा होता है तो सेब के रस के साथ पी सकते है.

    3. सिट्रिक एसिड वाले फल (citric acid fruits for urine infaction treatment) :
    सिट्रिक एसिड में यूरिन इंफैक्शन वाले बैक्टीरिया को खत्म कर देने वाली पावर रहता है, जिन फलों और सब्जियों में सिट्रिक एसिड की मात्रा अधिक होती है, उनका सेवन करें। नींबू, संतरे, मौसंबी जैसे फलो में citric acid भरपूर होता है.

  • नींबू के top 15 फायदे – benefits of lemon

    Urine infection treatment in hindi

    4. सेब का सिरका :
    सेब का सिरका urine infection को कम करने में और गुप्त अंगो की समस्या के इलाज के लिए काफी लाभदायक.
    1 गिलास पानी ले, उसमे 2 चम्मच सेब का सिरका, और ½ चम्मच शहद मिलाकर पियें. बहुत जल्द ही आराम मिलेगा.

    इसके अलावा:
    5. लहसुन का सेवन करें
    6. Butter milk का सेवन करें
    7. अनन्नास खाये
    8. पानी में 2 चम्मच बेकिंग सोडा मिलाकर पिएं.

    Lifestyle बदलकर कर यूरिन इन्फेक्शन से बचने के उपाय :

    1. अत्यधिक पानी पिएं,
    2. पेशाब लगने पर उसे रोके ना,
    3. पार्टनर को यूरिन इन्फेक्शन हो तो सेक्स न करें,
    4. कंडोम का इस्तेमाल करें,
    5. पब्लिक टॉयलेट में पहले फ्लश करके ही पेशाब करें,
    6. Urine tract infection tips in hindi में हेल्थी आहार लें,
    7. गंदगी वाली जगह में पेशाब न करें.
    8. गुप्त अंगों को साफ करें,
    9. Baba ramdev patanjali store में आयुर्वेदिक दवा मिल जाएगा उसे उपयोग करें.

    तो पाठको यूरिन इन्फेक्शन क्या है? लक्षण, कारण और आयुर्वेदिक इलाज (urine infection in hindi) की यह जानकारी आपको जरूर पसंद आई होगी. अगर आपके पास भी मूत्र मार्ग संक्रमण से बचने के उपाय, यूरिन इन्फेक्शन मेडिसिन नाम पता हो तो कमेंट्स करके बतायें, हम उसे भी यह add कर देंगे.
    आगे आने वाली लेख के updates पाने के लिए ईमेल पर सब्सक्राइब कर ले या हमारा फेसबुक पेज लाइक कर ले ताकि नोटिफिकेशन आप तक पहुच जाए. साथ ही पोस्ट को फेसबुक व्हाट्सएप्प में शेयर करना ना भूले. धन्यवाद.

  • Leave a Comment